किन्तु करि की ? किन्तु करि की ? | 8782 Hits

किन्तुकरि की ? किन्तु करि की?

मुर्ख छलौं मूर्खे रहब
सुधैर गेलौं त कपाड कहब
दर्द त होएत अछि बहुत
किन्तुकरि की ?
किन्तु करि की?
जखन !अपनेसंछुटिगेलौं
अनकर गप्प कीकरब
जखनअनकोंसंटूटी गेलौं
तेसरकगप्पकी करब
टूटैकसिलसला चलये रहल अछि
चैलतेरहत
करि की ?
किन्तु करि की?
भावनाक कोनो मूल्य नै अछि ऐतह
दोसरक दुखक कोनो मूल्य नै अछि ऐतह
प्रेम,दुःख-दर्दपरसोंक गप्पबनलअछि ऐतह
आखिर
करि की ?
किन्तु करि की?
प्रेम क समर्पण सेक्स क संबोधन छि ऐतह
भै अथवा बहिन प्रेमकरैतरहू-
किन्तु समर्पण अपराध छि ऐतह
आखिर
करि की ?
किन्तु करि की?
बिन नशाक, जिबैक कल्पना केनायो मुस्किल अछि
बिन नशाक,गप्पोकरनाईमुस्किल अछि
नशा के एहेन झकझोर जे लागल
बिना चोट के चोट जे लागल
आखिर
करि की ?
किन्तु करि की?
एकटा सखी जे छल - बाल अवास्थक
सब दुःख में कोशिश जे केलक रहबाक
पतिजे हुनकर मित्र छलाहहरसमयक
एक दिन
पुछ्लौं जकरा हम एक दिन
आहांत मित्र छिहमर
दर्दककखबैररखईछिहमरा संबेसीहमर
हमरो तकिछुकर्तब्यबनैत अछि
कोनोतरहकजीवनमें दर्दहुएअहाँ के
मनपारबजरुरएकबेर
प्राणजंकाजआबीसकेआहां लेलहमर
जीवनधन्यभ सकेशायदहमर
किन्तु
सबगोटेभुझलाह
हमप्यासल छि
शरीरक !
आत्माक !
हम खुनी छि
रिस्ताक !
धागक!
किन्तु
मुर्ख छलौं मूर्खे रहब
सुधैर गेलौं त कपाड कहब
दर्द त होएत अछि बहुत
किन्तुकरि की ?
किन्तु करि की?
अशोककुमारझा आनंद
9873780087

---Recommended Members